Month: May 2014

Garoor

कबर की मिट्टी हाथ में लिए सोच रहा हूं,

लोग मरते हैं तो गुरूर कहाँ जाता है…

#Shair #Shayari

Roti

उस रात गरीब माँ ने यह कह के बच्चों को सुला दिया;
फ़रिश्ते ख्वाब में आते है रोटियां ले कर​।

#Shair #Shayari

Kafan

एक दिन जब हुआ इश्क का एहसास उन्हें
वो हमारे पास आकर सारा दिन रोते रहे,
और हम भी इतने खुदगर्ज़ निकले यारों
की आँख बंद कर के कफ़न में सोते रहे

#Osho : God is Mad –

If you are ready to be a little mad, only then is there any possibiluty of any contact betwen you and the infinite. It has to be so. When the whole ocean drops into a drop, the drop is going to get crazy. When the infinite descends into the finite, how can the finite remaine sane? It has to go mad. The old mystics have always called it ‘The Divine Madness’. All meditation is an approach towards divine madness. Stake all human sanity. it is better to be mad in a divine way than to be sane in a human way. I am crazy.

Osho

Bantana

खुशियाँ बटोरते बटोरते उम्र गुजर गई , पर खुश ना हो सके,
एक दिन एहसास हुआ ,
खुश तो वो लोग थे जो खुशियाँ बांट रहे थे!

#Shair #Shayari